browser icon
You are using an insecure version of your web browser. Please update your browser!
Using an outdated browser makes your computer unsafe. For a safer, faster, more enjoyable user experience, please update your browser today or try a newer browser.

Tagged With: poem on recent comments by Mr. Shashi Tharur

सिखाओ सबक

सत्ता से दूर क्या हो गए बुद्धि भ्र्ष्ट हो गई है। जो मन में आया उनके वो बोल रहे है। कर रहे है वो हमारी अवमानना वोटों के लिए सबकुछ हो रही है देश की भी अवहेलना। कभी कहा “हिन्दू पाकिस्तान” तो कभी “हिन्दू तालिबान ” ऐसे लोगों को सिखाएगा सबक ऐ सारा हिंदुस्तान। — … Continue reading »

Categories: Hindi, Hindi Poems | Tags: , | Leave a comment
Powered by Kapil